नगरनिगम ने स्ट्रीट वेंडर्स के लिए आयोजित किया बायोमेट्रिक सत्यापन कैम्प
February 29, 2020 • Surya Prakash
हरिद्वार। उत्तराखंड नगरीय फेरी व्यवसायी (आजीविका सुरक्षा तथा फेरी व्यवसाय विनियमन) नियमावली- 2016 को क्रियान्वयन करते हुए नगर निगम प्रशासन द्वारा नगर आयुक्त नरेंद्र सिंह भंडारी के निर्देशन में पूर्व की फेरी समिति की बैठक के प्रस्ताव को नगर निगम क्षेत्र में लागू करने के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा के सहयोग से सर्वप्रथम चंडी चैक से लालतारो पूल दाई और खाली भूमि पर 50 (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों की क्षमता के वेंडिंग जोन के स्थापन की कार्रवाई को आगे बढाते हुए चंडीघाट मार्ग स्थित वेंडिंग जोन में पूर्व के सर्वे रिपोर्ट के आधार पर पंजीकृत (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों का सत्यापन करने हेतु दो दिवसीय कैम्प नगर निगम प्रशासन द्वारा आयोजित किया गया। जिसमें उत्साह के साथ रेडी पटरी के लघु व्यापारियों ने अपना पुनः बायोमेट्रिक पंजीकरण का सत्यापन कराया।
इस अवसर पर लघु व्यापार एसो. के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपड़ा ने कहा अरसे से उत्तराखंड बनने के उपरांत प्रदेश भर में लघु व्यापारियों को संगठित कर उनकी न्यायसंगत मांगो को लंबे संघर्ष के परिणाम स्वरूप मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के संयुक्त निर्देशन में धर्मनगरी हरिद्वार में नगर निगम क्षेत्र में प्रथम बार महाकुम्भ मेला आयोजन से पूर्व वेंडिंग जोन में रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को स्थापित किये जाने की प्रक्रिया को किया जा रहा है उसका सभी लघु व्यापारियों की और से सरकार व नगर निगम प्रशासन का आभार प्रकट करते है। उन्होंने कहा कि नगर आयुक्त द्वारा सर्व प्रथम किसी एक चयनस्थल को जहाँ पर यातायात बाधित ना हो चिन्हित करते हुए मॉडल वेंडिंग जोन मार्किट स्थापित करने का प्रस्ताव पूर्व की फेरी समिति की बैठक में रखा गया था जिस पर सदस्यो द्वारा चिन्हित प्रथम वेंडिंग जोन चंडी चैक से लालतारो पूल दाई और खाली भूमि पर 50-50 रेडी पटरी के (स्ट्रीट वेंडर्स) लघु व्यापारियों को स्थापित किया जाएगा जो रेडी पटरी वालो के लिए न्यायसंगत व उनकी जीविका के लिए हर्ष का विषय है। लघु व्यापारियों को स्थापित करने की प्रक्रिया के सत्यापन में वेंडिंग जोन प्रभारी राजेन्द्र घागड़, सुदीप मिश्रा, सचिन कुमार, सहयोगी भूपेंद्र राजपूत, विमल कुमार, जयसिंह बिष्ट, प्रभात चैधरी, वीरेंद्र, मोहनलाल आदि सहित भारी तादाद में लघु व्यापारी उपस्थित रहे।