स्वामी विवेकानंद पुरी महाराज का समूचा जीवन त्याग, तपस्या व भारतीय संस्कृति को समर्पित रहाः स्वामी राजेश्वराश्रम 
February 29, 2020 • Surya Prakash
हरिद्वार। सप्तसरोवर भूपतवाला की प्रख्यात धार्मिक संस्था श्री विवेक कुटीर में ब्रह्मलीन स्वामी विवेकानंद पुरी जी महाराज की षोड्शी भण्डारा के अवसर पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस अवसर पर श्रद्धाजंलि सभा को सम्बोधित करते हुए जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम महाराज ने कहा कि ब्रह्मलीन स्वामी विवेकानंद पुरी महाराज का समूचा जीवन त्याग, तपस्या व भारतीय संस्कृति को समर्पित था। उन्होंने कहा कि ब्रह्मलीन स्वामी विवेकानंद पुरी महाराज ने जीवन पर्यंत भारतीय संस्कृति व संस्कृत को बढ़ाने के लिए भारत ही नहीं अपितु विश्व में अपनी कार्यशैली से भारत के साधु समाज की ख्याति को बढ़ाने का काम किया है। उन्होंने जीवन पर्यंत समाज को नई दिशा, नई सोच देने के लिए अपने आप को समर्पित रखा। शंकराचार्य स्वामी राज राजेश्वराश्रम महाराज ने कहा कि ब्रह्मलीन स्वामी विवेकानंद महाराज आध्यात्मिक की पराकाष्ठा पर स्थित अनेक दर्शन शास्त्रों के ज्ञाता थे। उन्हें अध्यात्मिक व धार्मिक स्वरूप प्रतिष्ठित करने में सफल शिल्पी कहा जाए तो भी कम है।
विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल ने ब्रह्मलीन स्वामी विवेकानंद पुरी महाराज को श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए कहा कि वेदान्त, अध्यात्म व संस्कृत के प्रचार-प्रसार में स्वामीजी ने अपना जीवन अर्पित कर भारतीय संस्कृति को मजबूत करने का कार्य किया है। उन्हांेने कहा कि ऐेसे महान विभूति का विलुप्त होना संत समाज एवं सनातन संस्कृति के लिए अपूर्णीय क्षति है। श्रद्धाजंलि सभा में पधारे महामण्डलेश्वर, संत-महंतजनों व अतिथियों का स्वामी शान्तानन्द पुरी महाराज व स्वामी सुनीता विवेक पुरी महाराज ने माल्यार्पण कर स्वागत किया। श्रद्धाजंलि सभा को म.मं. स्वामी कमलानंद महाराज, म.मं. स्वामी हरिचेतनानंद महाराज, म.मं. स्वामी डाॅ. प्रेमानन्द महाराज, म.मं. स्वामी शिवप्रेमानन्द महाराज, म.मं. स्वामी आनन्दचेतनानन्द महाराज, महंत ललितानन्द गिरि महाराज, म.मं. स्वामी प्रकाशानन्द महाराज, म.मं. स्वामी जीरागिरि महाराज, स्वामी केशवानन्द महाराज, श्रीमहंत विनोद गिरि महाराज, महंत दिनेश दास, महंत रवि शास्त्री, स्वामी नित्यानन्द, स्वामी कृष्णानन्द, स्वामी प्रज्ञानन्द, स्वामी शिवानन्द, स्वामी मंगलानन्द, स्वामी शांतानन्द आदि संत-महंतजनों ने सम्बोधित किया। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के प्रतिनिधि नरेश शर्मा, पार्षद अनिल मिश्रा, अनिरूद्ध भाटी, विनित जौली, पार्षद प्रतिनिधि विदित शर्मा, पं. शिवप्रकाश शर्मा, रितेश वशिष्ठ, पूजा सिखेरा समेत श्रद्धालु भक्तजनों ने ब्रह्मलीन स्वामी विवेकानन्द पुरी महाराज को भावभीनी श्रद्धाजंलि अर्पित की।